भारत की प्रमुख झीले 

Share via Whatsapp

भारत की प्रमुख झीलेंआज के इस आर्टिकल में हम आपको भारत की प्रमुख झीलों के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी देने वाले है l 

झीले प्रकृति की एक सुन्दर देन है l प्रति वर्ष देश विदेश से कई लोग इन झीलों की सैर करने आते है और प्रकृति का आनंद उठाते है l 

भारत के मैदानी भागो की तुलना में उत्तरी पर्वतीय क्षेत्रों में अधिक झीले पायी जाती है l 

इस अर्टिकल में हम आपको झील किसे कहते है, झील कितने प्रकार की होती है, भारत में स्थित झीलों की राज्यों के अनुसार सूची, और झीलों के बारे में कुछ अन्य महत्वपूर्ण तथ्यों के बारे में जानकारी देंगे l 

आइये सबसे पहले जान लेते है कि झील किसे कहते है ?
पर्वत पठार और मैदान में अंतर

झील किसे कहते है ?

‘’झील सामान्यतः भूतल में स्थित विशाल गड्डे होते है जिसमे पानी भरा होता है l झीलों का पानी प्रायः स्थिर होता है जो चारों ओर से स्थल से घिरा होता है l’’ 

झीलें बनती हैं, विकसित होती हैं, धीरे-धीरे तलछट से भर जाती हैं और दलदल में बदल जाती हैं और ऊपर उठने पर पास की भूमि के बराबर हो जाती हैं।

भारत की प्रमुख झीलों की सूची 

भारत में स्थित प्रमुख झीलों की राज्यवार सूची इस प्रकार है -

क्र. सं.

राज्य 

झीलें 

जम्मू कश्मीर 

डल झील, वुलर झील, बैरिनाग झील, मानस बल झील, शेषनाग झील, अनंतनाग झील, नागिन झील, मानसर सरोवर

2

हिमाचल प्रदेश 

महाराणा प्रताप सागर, भृगु झील, नाको झील, रेणुका झील, सूरज ताल, चन्द्र ताल, पोंग डैम झील  

3

उत्तराखंड 

नैनीताल झील, भीमताल झील, सात ताल, देवताल, नौकुछियाताल, खुर्पाताल, राकसताल ताल, रूपकुंड 

4

हरियाणा 

ब्रह्म सरोवर, कर्ण झील, सूरज कुंड 

5

पंजाब 

गोविन्द सागर झील, हरिके झील, कंजली झील  

6

सिक्किम 

चोलामू झील, सोंगमा झील 

7

मणिपुर 

लोकटक झील 

8

उत्तर प्रदेश 

फुलहर झील, किथम झील, बरुआसागर ताल, गोमत ताल, सरसई नवर झील 

9

मध्य प्रदेश 

भोज ताल 

10

गुजरात 

नल सरोवर झील 

11

राजस्थान 

सांभर झील (जयपुर), पचपदरा झील (बाड़मेर), डीडवाना (नागौर), लुणकरणसर (बीकानेर), फतेहसागर झील (उदयपुर), नक्की झील माउण्ट आबू (सिरोही), पुष्कर झील, राजसमन्द झील, आनासागर झील, पिछोला झील

12

महराष्ट्र 

लोनर झील 

13

उड़ीसा 

चिल्का झील 

14

आंध्र प्रदेश 

कोलेरू झील, पुलीकट झील, 

15

केरल 

अष्टमुडी झील, बेम्बानद झील, सस्थमकोट्टा झील  

16

तमिलनाडु 

पुलीकट झील, कोडेकनल झील

17

असम 

चपनाला झील, दीपोर बील 

18

मेघालय 

उमियम झील 

19 

लद्दाख 

पांगोंग त्सो, त्सो मोरीरी, त्सो कर लेक  

 

त्रिपुरा 

रुद्रसागर झील 

 

बिहार 

काबर ताल 

झीलों के प्रकार 

झीलें मुख्य रूप से दो प्रकार की होती है - प्रकृतिक झीलें एवं मानव निर्मित झीलें 

प्रकृतिक झीलें

प्राकृतिक झीलें प्रकृति द्वारा निर्मित झीलें होती है l प्रकृति द्वारा निर्मित झीलों के प्रकार -

  • हिमानी द्वारा निर्मित झील 
  • विवर्तनिक हलचलों द्वारा निर्मित झील 
  • ज्वालामुखी पर्वतों द्वारा निर्मित झील
  • लैगून झील
  • वायु द्वारा निर्मित झील 

हिमानी द्वारा निर्मित झील - जब हिमनद पिघलने के अपने अंतिम चरण में पहुंचते हैं, तो उनमें पाया जाने वाला हिमोड़ या मोराइन एक अवरोध के रूप में कार्य करता है, जिसके कारण पिघला हुआ पानी ऊबड़-खाबड़ जगह में इकट्ठा हो जाता है और झील का आकार ले लेता है। इस प्रकार की झीले उत्तर के पर्वतीय भाग में पायी जाती है l 

उत्तराखंड की नैनी झील, राकसताल, सातताल हिमानी द्वारा निर्मित झील के उदहारण है l 

भारत के अन्तराष्ट्रीय हवाई अड्डे

विवर्तनिक हलचलों द्वारा निर्मित झील - पृथ्वी के अंदर की हलचल के कारण कभी-कभी आंतरिक गड्ढों का निर्माण होता है, जिसमे पानी से भर जाने पर आंतरिक झीलों का निर्माण हो जाता है। कैस्पियन सागर इसका उदाहरण है। जम्मू कश्मीर में स्थित वुलर झील इस प्रकार की झील का उदहारण है l 

ज्वालामुखी पर्वतों द्वारा निर्मित झील - सुप्त ज्वालामुखी पर्वतों के ज्वालामुख या क्रेटर जल से भर जाने पर झीलों का रूप धारण कर लेते हैं।

महाराष्ट्र की लोनार झील इस प्रकार की झील का उदहारण है l 

बादल सफ़ेद क्यों दिखाई देते है

लैगून झील - लैगून एक विस्तृत जल निकाय जैसे समुद्र या महासागर के किनारे पर बना एक उथला जल क्षेत्र है, जो अवरोध (बालू, प्रवाल भित्ति) द्वारा समुद्र से आंशिक रूप से या पूरी तरह से अलग होता है। इसे अनूप झील भी कहते है l 

उड़ीसा की चिल्का झील, आंध्र प्रदेश की कोलैरू झील, तमिलनाडु की पुलीकट झील, केरल की बेम्बानद और अष्टमुडी झील लैगून झील का उदहारण है l 

आसमान नीला क्यों दिखाई देता है ?

वायु द्वारा निर्मित झील - इस प्रकार की झीलों का निर्माण वायु के अपरदन के फलस्वरूप होता है l इन्हें प्लाया झील भी कहते है l राजस्थान की सांभर झील, पंचभद्रा झील, और लुणकरणसर झील इस प्रकार की झील का उदहारण है l 

भारत की सबसे लम्बी नदी कौन सी है ?

मानव निर्मित झीलें 

इस प्रकार की झीलें मानव द्वारा निर्मित होती है इन्हें कृत्रिम झीलें भी कहते है l कृत्रिम झीलों का निर्माण सिंचाई, विद्युत उत्पादन, जलापूर्ति और प्रकृति सौन्दर्य के लिए किया जाता है l 

उत्तर प्रदेश में स्थित कृत्रिम झील 

गोविन्द बल्लभ पन्त सागर झील - यह झील रिहंद नदी का पानी रोककर बनायी गयी है l यह झील उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में स्थित है l रिहंद नदी सोन नदी की सहायक नदी है l यह भारत की सबसे बड़ी कृत्रिम झील है l  

मध्य प्रदेश में स्थित कृत्रिम झील 

गांधीसागर झील - इस झील का निर्माण गाँधी सागर बांध के निर्माण के कारण हुआ है जो की चम्बल नदी पर निर्मित है l 

भारत में नदियों के किनारे बसे शहर

राजस्थान में स्थित कृत्रिम झील 

जवाहर सागर झील, और राणा प्रताप सागर झील - ये झीलें चम्बल नदी पर निर्मित है l 

जयसमन्द झील - यह झील राजस्थान के अरावली पर्वतमाला के दक्षिण-पूर्व में स्थित है l यह झील एशिया की दूसरी सबसे बड़ी कृत्रिम झील है l जयसमंद झील के सबसे बड़े टापू का नाम बाबा का भखड़ा व सबसे छोटे टॉपु का नाम पयारी है।

पचपदरा झील - पचपदरा झील राजस्थान में खारे पानी की झील है जो राज्य के बाड़मेर जिले की बालोतरा तहसील के पचपदरा गांव में स्थित है। इस झील से नमक का उत्पादन होता है। इस सरोवर में खारवाल जाति के लोग मोरली की झाड़ी से नमक के क्रिस्टल बनाते हैं। पंचा नामक भील के द्वारा दलदल को सुखा कर के इस झील के आसपास की बस्तियों का निर्माण करवाया गया था।

इस झील से प्राप्त होने वाला नमक उच्च गुणवत्ता का होता है क्योंकि इसमें 98% तक सोडियम क्लोराइड होता है l 

भारत के राज्य और उनकी राजधानी 

हिमाचल प्रदेश में स्थित कृत्रिम झील 

गोविन्द सागर झील - यह झील सतलज नदी पर भाखड़ा बाँध के निर्माण के कारण बनी है l इस झील का नाम सिखों के दसवें गुरु गोविन्द सिंह के नाम पर रखा गया है l यह झील हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर जिले में स्थित है l 

तमिलनाडु में स्थित कृत्रिम झील 

स्टेनली जलाशय - यह झील कावेरी नदी पर मेट्टूर बांध के निर्माण के कारण बनी है l 

केरल में स्थित कृत्रिम झील 

पेरियार झील - पेरियार झील का निर्माण पेरियार नदी पर बने बाँध के कारण हुआ हुआ है l 

स्थलरुद्ध देश किसे कहते है ?

आंध्र प्रदेश एवं तेलंगाना में स्थित कृत्रिम झील 

नागार्जुन सागर झील - नागार्जुन सागर झील का निर्माण कृष्णा नदी पर नागार्जुन सागर बाँध के निर्माण के बाद हुआ है l 

हुसैन सागर झील - यह तेलंगाना राज्य के हैदराबाद में स्थित एक कृत्रिम झील है l यह हैदराबाद को अपने जुड़वां नगर सिकंदराबाद से अलग करती है।

पृथ्वी की कितनी परते है ?

भारत की प्रमुख झीलें: महत्वपूर्ण तथ्य  

  • चिल्का झील भारत की सबसे बड़ी तटीय झील है जो उड़ीसा में स्थित है, यह खारे पानी की लैगून झील है। यहाँ पर नौसेना का प्रशिक्षण केंद्र अवस्थित है l यह विश्व की दूसरी सबसे बड़ी लैगून झील (खारे पानी) भी है l इसका क्षेत्रफल 1,100 वर्ग किमी से अधिक है l 
  • 1981 में, चिल्का झील को रामसर कन्वेंशन के तहत अंतरराष्ट्रीय महत्व की पहली भारतीय आर्द्रभूमि नामित किया गया था।
  • पुलीकट झील आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु राज्य में स्थित भारत की दूसरी सबसे बड़ी खारे पानी की झील है l यह झील 759 वर्ग किमी क्षेत्रफल में फैली है l
  • पुलीकट झील पर श्रीहरिकोटा द्वीप है जो इसे बंगाल की खाड़ी से अलग करता है और इस द्वीप पर ही भारतीय अंतरिक्ष अनुसन्धान संस्थान (ISRO) द्वारा स्थापित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र स्थित है l 
  • वुलर​ झील जम्मू कश्मीर राज्य के बांडीपोरा ज़िले में स्थित भारत की मीठे पानी की सबसे बड़ी झील है। तुलबुल परियोजना वुलर झील पर स्थित है l 
  • वुलर झील के जल का मुख्य स्त्रोत झेलम नदी है l 
  • वुलर झील का निर्माण विवर्तनिक क्रिया के फलस्वरूप हुआ है l यह गोखुर झील का भी उदहारण है क्योंकि इसकी आकृति गाय की खुर के सामान है l 
  • लोकटक झील पूर्वोत्तर भारत की (ताजे पानी की झील) सबसे बड़ी झील है l यह झील मणिपुर राज्य के चुंडाचांदपुर जिले में स्थित है l इस झील का क्षेत्रफल 40 वर्ग किमी है l 
  • इस झील पर विश्व का एकमात्र तैरता हुआ राष्ट्रीय उद्यान केयबुल लामजाओ स्थित है।
  • चोलामू या त्सो ल्हामो झील भारत की सबसे अधिक ऊंचाई पर स्थित झील है l यह झील सिक्किम राज्य में स्थित है l यह झील 6,200 मीटर (20,300 फीट) की ऊंचाई पर स्थित है।
  • देवताल झील उत्तराखंड राज्य में स्थित भारत की दूसरी सबसे अधिक ऊंचाई पर स्थित झील है l 
  • लोनार झील महाराष्ट्र के बुलढाणा जिले में स्थित खारे पानी की झील है। इसका निर्माण एक उल्कापिंड के पृथ्वी से टकराने से हुआ है।
  • बेम्बानद झील भारत की सबसे लम्बी झील है यह केरल राज्य में स्थित एक लैगून झील है l यह झील ओणम पर्व के दौरान आयोजित होने वाली वार्षिक नौकादौड़ (नेहरू ट्रॉफी बोट रेस) के लिये प्रसिद्ध है।
  • इस झील पर दो मुख्य द्वीप है - विलिंगडन द्वीप और वल्लारपदम द्वीप। 
  • विलिंगडन द्वीप पर कोच्चि का बंदरगाह, भारतीय नौसेना के स्थापत्य, केंद्रीय मत्स्य उद्योग संस्थान और अन्य कार्यालय हैं। राष्ट्रीय राजमार्ग 966B इसे मुख्य भूमि से जोड़ता है।
  • मानसबल​ झील जम्मू व कश्मीर राज्य में श्रीनगर से उत्तर में स्थित है। यह भारत की सबसे गहरी झील है l 
  • सांभर झील भारत के राजस्थान राज्य में जयपुर शहर के पास स्थित एक खारे पानी की झील है। इस झील से बड़े पैमाने पर नमक का उत्पादन होता है।
  • सांभर झील भारत की अन्तः स्थलीय वृहतम खारे पानी की झील है l 
  • पूकोड झील भारत के केरल राज्य के वायनाड जिले में स्थित भारत की सबसे छोटी झील है l यह मीठे पानी की झील है l 
  • कोलेरू झील कृष्णा और गोदावरी नदी के डेल्टा पर स्थित है l यह ताजे पानी की झील है l यह झील एक रामसर स्थल है l 
  • कोलेरू झील आंध्र प्रदेश के कृष्णा जिले में स्थित है l कई पक्षी शीत ऋतु में यहाँ प्रवास करते हैं, जैसे साइबेरियन क्रेन, आइबिस और चित्रित सारस।
  • अष्टमुडी झील केरल के कोल्लम राज्य में स्थित एक झील है l इसका आकार आठ भुजाओं वाला है l 

भारत के प्रधान मंत्रियों की सूची 

भारत की सीमा कितने देशो से लगती है ?

रामसर स्थलों की सूची में शामिल झीलें 

भारत में रामसर स्थलों की कुल संख्या 49 है l भारत में रामसर स्थलों की सूची में शामिल झीलें इस प्रकार है - 

क्र.सं.

रामसर स्थलों की सूची में शामिल झीलें 

राज्य 

घोषणा वर्ष 

1.

कोलेरू झील 

आंध्रप्रदेश 

2002

2.

दीपोर बील 

असम 

2002

3.

चंद्रताल, पौंग झील, रेणुका झील, 

हिमाचल प्रदेश 

2005, 2002, 2005

4.

सूरिंसार-मानसर झीलें,  वुलर झील

जम्मू कश्मीर 

2005, 1990

5.

त्सो-मोरीरी, त्सो कर लेक

लद्दाख 

2020

6.

अष्टमुडी वेटलैंड, सस्थमकोट्टा झील, बेम्बानद झील 

केरल 

2002

7.

भोज ताल 

मध्य प्रदेश 

2002

8.

लोकटक झील 

मणिपुर 

1990

9.

चिल्का झील 

ओड़िसा 

1981

10.

हरिके झील, कंजली झील  

पंजाब 

1990, 2002

11.

सांभर झील 

राजस्थान 

1990

12.

रुद्रसागर झील 

त्रिपुरा 

2005

13.

सरसई नावर झील, कीथम झील  

उत्तर प्रदेश 

2019, 2020

14.

कबर ताल 

बिहार 

2020

15.

लोनार झील 

महाराष्ट्र 

2020

भारत की प्रमुख झीलें: FAQ’s

भारत की सबसे बड़ी खारे पानी की झील कौन सी है ?

चिल्का झील (ओड़िसा )

भारत की सबसे बड़ी मीठे पानी की झील कौन सी है ?

वुलर झील (जम्मू कश्मीर)

भारत की सबसे ऊंचाई पर स्थित झील कौन सी है ?

चोलामू या त्सो ल्हामो झील (सिक्किम)

भारत की दूसरी सबसे ऊँची झील कौन सी है ?

देवताल झील (उत्तराखंड)

भारत की सबसे खारी झील कौन सी है ?

सांभर झील (राजस्थान)

यह भी पढ़े 

Comments