भारत के लोक नृत्य


भारत के लोक नृत्य

हम जानते हैं कि भारत विभिन्न संस्कृतियों और विविधता का देश है। और उन संस्कृतियों के साथ, नृत्य की संस्कृति भी भारत में मौजूद है।

भारत में दो प्रकार के नृत्य हैं - शास्त्रीय नृत्य (जो कि संख्या मे 8 है), लोक नृत्य । 

हमारे पिछले लेख में आपने भारत के शास्त्रीय नृत्य के बारे में जाना। और अब इस लेख में आप जानेंगे लोक नृत्य क्या है, लोक नृत्य का इतिहास, शास्त्रीय नृत्य और लोक नृत्य के बीच अंतर, भारत के लोक नृत्यों की सूची 

भारत जैसे देश में लोगों द्वारा उत्सव या किसी भी खुशी के अवसर पर अपनी खुशी व्यक्त करने के लिए नृत्य किया जाता है।

प्राचीन काल से लोग अपनी खुशी को व्यक्त करने के लिए नृत्य को सबसे अच्छा माध्यम मानते हैं। और इस प्रकार विभिन्न त्योहारों के अवसर पर नृत्य की परंपरा शुरू हुई।

लोक नृत्य क्या है?

वह नृत्य जो लोगों द्वारा विकसित किया जाता है, जो एक निश्चित देश या क्षेत्र के लोगों के जीवन और संस्कृति को दर्शाता है, उसे लोक नृत्य कहा जाता है।

ये बिना किसी पेशेवर प्रशिक्षण के बहुत सरल नृत्य होते हैं, और पारंपरिक संगीत के साथ किए जाते हैं।

लोक नृत्य बहुत आसान होते हैं और आम तौर पर ग्रामीण क्षेत्रों में खुशी व्यक्त करने का एक माध्यम होते हैं।

पहले इनका मंच पर प्रदर्शन नहीं किया जाता था। लेकिन अब इन्हें भी मंच पर प्रदर्शन के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है।

लोक नृत्य महत्वपूर्ण हैं क्योंकि वे किसी विशेष क्षेत्र की संस्कृति को जीवित रखने में मदद करते हैं।

भारत के लोक नृत्य का इतिहास

यदि हम लोक नृत्यों की उत्पत्ति के बारे में बात करते हैं, तो यह 19 वीं शताब्दी से पहले विभिन्न ग्रामीण क्षेत्रों मे उत्पन्न हुये है। और फिर इनका विकास मानव जीवन के साथ हुआ है ।

इसमें, कभी पुरुष, कभी महिलाएं और कभी दोनों एक साथ नृत्य करते हैं। ग्रामीण क्षेत्रों के लोग अपनी खुशी को व्यक्त करने के लिए लोक नृत्यों को सबसे अच्छा माध्यम मानते हैं।

इसलिए, ग्रामीण संस्कृति के साथ, ये भी विकसित हुए।

शास्त्रीय नृत्य और लोक नृत्य के बीच अंतर

शास्त्रीय नृत्यों की तुलना में लोक नृत्य बहुत सरल होते हैं।

भारत के 8 शास्त्रीय नृत्य हैं लेकिन लोक नृत्य के बारे में कुछ निश्चित संख्याएँ नहीं हैं।

शास्त्रीय नृत्य में, नियमों का सख्ती से पालन किया जाता है। लेकिन लोक नृत्य में ऐसा कुछ नहीं है। लोक नृत्यों का प्रदर्शन करना बहुत आसान है और इनमें ऐसा कोई प्रतिबंध नहीं है।

शास्त्रीय नृत्य आम तौर पर एक विशेष अवसर पर किए जाते हैं। लेकिन लोक नृत्यों में ऐसा कुछ नहीं है। बच्चे के जन्म, विवाह, त्योहारों और ऋतुओं के आगमन पर अपनी खुशी व्यक्त करने के लिए लोक नृत्य किए जाते हैं।

शास्त्रीय नृत्य और लोक नृत्यों की वेषभूषा अलग - अलग  हैं।

शास्त्रीय नृत्य आम तौर पर मंदिरों में उत्पन्न हुए, दूसरी ओर, लोक नृत्य मानव जीवन के साथ विकसित हुए हैं।

लोक नृत्य कितने प्रकार के हैं?

भारत के केवल 8 शास्त्रीय नृत्य हैं जो संगीत नाटक अकादमी द्वारा मान्यता प्राप्त हैं। भारत एक 'राज्यों का संघ' है और भारत के प्रत्येक राज्य में कई लोक नृत्य हो सकते हैं, जैसा कि आप देख सकते है कि एक स्थान से दूसरे स्थान पर, जाति, धर्म और समूहों के आधार पर लोक नृत्यों में अंतर है।

यह उस समुदाय की संस्कृति और परंपराओं को दर्शाता है जहां से इसकी उत्पत्ति हुई हो । इसलिए यह बताना मुश्किल है कि भारत में कितने लोक नृत्य हैं। आप भारत के सभी लोक नृत्यों की सूची नीचे दी गई तालिका में देख सकते हैं।

भारत के लोक नृत्यों की सूची

भारत के प्रत्येक राज्य का अपना अलग लोक नृत्य है और एक राज्य मे इनकी संख्या एक या एक से अधिक हो सकती है । यहां आप भारत के लोक नृत्यों की सूची  देख सकते हैं।

राज्य

राज्यो के लोक नृत्य

जम्मू और कश्मीर 

  • रऊफ, 
  • हीकत
  • मंदजात, 
  • कूद डांडी नाच, 
  • दमाली। 

हिमाचल प्रदेश 

  • झोरा, 
  • झाली, 
  • छारही, 
  • धामन, 
  • छापेली, 
  • महासू, 
  • नटी, 
  • डांगी। 

उत्तराखंड 

  • गढ़वाली, 
  • कुंमायुनी, 
  • कजरी, 
  • रासलीला, 
  • छाप्पेली। 

उत्तर प्रदेश 

  • नौटंकी, 
  • रासलीला, 
  • कजरी, 
  • झोरा, 
  • चाप्पेली, 
  • जैता। 

पंजाब 

  • भांगड़ा, 
  • गिद्दा, 
  • दफ्फ, 
  • धामन, 
  • भांड, 
  • नकूला।  

हरियाणा 

  • झूमर
  • फाग, 
  • डाफ, 
  • धमाल, 
  • लूर, 
  • गुग्गा, 
  • खोर, 
  • जागोर।

राजस्थान 

  • घूमर
  • चाकरी, 
  • गणगौर, 
  • झूलन लीला, 
  • झूमा, 
  • सुईसिनी, 
  • घपाल, 
  • कालबेलिया।   

गुजरात 

  • गरबा, 
  • डांडिया रास, 
  • टिप्पनी जुरुन, 
  • भावई।

महाराष्ट्र

  • लावणी, 
  • नकाटा, 
  • कोली, 
  • लेजिम, 
  • गाफा, 
  • दहीकला दसावतार या बोहादा।   

गोवा 

  • तरंगमेल, 
  • कोली, 
  • देक्खनी, 
  • फुग्दी, 
  • शिग्मो, 
  • घोडे, 
  • मोडनी, 
  • समायी नृत्य, 
  • जगर, 
  • रणमाले, 
  • गोंफ, 
  • टून्नया मेल।  

आंध्र प्रदेश 

  • कुचीपुड़ी, 
  • घंटामरदाला, 
  • ओट्टम थेडल, 
  • वेदी नाटकम।

असम 

  • बीहू, 
  • बीछुआ, 
  • नटपूजा, 
  • महारास, 
  • कालिगोपाल, 
  • बागुरुम्बा, 
  • नागा नृत्य, 
  • खेल गोपाल, 
  • ताबाल चोनग्ली, 
  • कानोई, 
  • झूमूरा होबजानाई।

बिहार 

  • जाट– जाटिन
  • बक्खो– बखैन, 
  • पनवारिया, 
  • सामा चकवा, 
  • बिदेसिया।

केरल 

  • कथकली (शास्त्रीय), 
  • ओट्टम थुलाल, 
  • मोहिनीअट्टम, 
  • काईकोट्टिकली।   

कर्नाटक 

  • यक्षगान, 
  • हुट्टारी, 
  • सुग्गी, 
  • कुनीथा, 
  • करगा, 
  • लाम्बी। 

तमिलनाडु 

  • भरतनाट्यम, 
  • कुमी, 
  • कोलट्टम, 
  • कवाडी।

मध्य प्रदेश 

  • जवारा, 
  • मटकी, 
  • अडा, 
  • खाड़ा नाच, 
  • फूलपति, 
  • ग्रिदा नृत्य, 
  • सालेलार्की, 
  • सेलाभडोनी, 
  • मंच।  

छत्तीसगढ़ 

  • गौर मारिया, 
  • पैंथी, 
  • राउत नाच, 
  • पंडवाणी, 
  • वेडामती, 
  • कपालिक, 
  • भारथरी चरित्र, 
  • चंदनानी।

झारखंड 

  • अलकप, 
  • कर्मा मुंडा, 
  • अग्नि, झूमर, 
  • जनानी झूमर, 
  • मर्दाना झूमर, 
  • पैका, फगुआ, 
  • हूंटा नृत्य, 
  • मुंदारी नृत्य, 
  • सरहुल, 
  • बाराओ, 
  • झीटका, 
  • डांगा, 
  • डोमचक, 
  • घोरा नाच।  

ओडिसा 

  • ओडिसि (शास्त्रीय), 
  • सवारी, घूमरा, 
  • पैंरास मुनारी, 
  • छाउ।

पश्चिम बंगाल 

  • काठी, 
  • गंभीरा, 
  • ढाली, 
  • जतरा, 
  • बाउल, 
  • मरासिया, 
  • महाल, 
  • कीरतन।

अरुणाचल प्रदेश 

  • बुईया, 
  • छालो, 
  • वांचो, 
  • पासी कोंगकी, 
  • पोनुंग, 
  • पोपीर, 
  • बारडो छाम।  

मणिपुर 

  • डोल चोलम, 
  • थांग टा, 
  • लाई हाराओबा, 
  • पुंग चोलोम, 
  • खांबा थाईबी, 
  • नूपा नृत्य, 
  • रासलीला, 
  • खूबक इशेली, 
  • लोहू शाह।  

मेघालय 

  • का शाद सुक मिनसेइम, 
  • नॉन्गरेम, लाहो।  

मिज़ोरम 

  • छेरव नृत्य, 
  • खुल्लम, 
  • चैलम, 
  • स्वलाकिन, 
  • च्वांगलाईज्वान, 
  • जंगतालम, 
  • पर लाम, 
  • सरलामकई/ सोलाकिया, 
  • लंगलम।         

नागालैंड 

  • रंगमा, 
  • बांस नृत्य, 
  • जीलैंग, 
  • सूईरोलियंस, 
  • गीथिंगलिम, 
  • तिमांगनेतिन, 
  • हेतलईयूली। 

त्रिपुरा 

  • होजागिरी । 

सिक्किम

  • छू फाट नृत्य, 
  • सिकमारी, 
  • सिंघई चाम या स्नो लायन डांस, 
  • याक छाम, 
  • डेनजोंग नेनहा, 
  • ताशी यांगकू नृत्य, 
  • खूखूरी नाच, 
  • चुटके नाच, 
  • मारूनी नाच।  

लक्षद्वीप 

  • लावा, 
  • कोलकाई, 
  • परीचाकली।  

यह भी पढ़े