Question
In how many ways Indian citizenship can be lost?
भारतीय नागरिकता कितने तरीकों सें खो सकती है?
A.
B.
C.
D.
Answer
C.The Citizenship Act, 1955, prescribes three ways of losing citizenship of India. 1.Renunciation 2.Deprivation 3.Termination So the correct answer is option C.
C.नागरिकता अधिनियम, 1955, भारत की नागरिकता खोने के तीन तरीकों को निर्धारित करता है। 1.स्वयं त्यागकर 2.दूसरे देश की नागरिकता लेने पर 3.जालसाजी करके नागरिकता लेने पर या देशद्रोह साबित होने पर इसलिए सही उत्तर विकल्प C है।

View Similar questions (संबन्धित प्रश्न देखें)

Question
How many fundamental duties are noted in the Constitution of India?
भारत के संविधान में कितने मौलिक कर्तव्यों का उल्लेख किया गया है?
A.
B.
C.
D.
Answer
B.There are 11 fundamental duties are noted in the Constitution of India. The 11th was added in 86th Amendment act, 2002 and it gives Right to Education. It says the every child should get compulsory education between the age of 6 to 14 years. So the correct answer is option B.
B.भारत के संविधान में 11 मौलिक कर्तव्यों का उल्लेख किया गया है। 86 वें संशोधन अधिनियम, 2002 में 11 वाँ जोड़ा गया, जो शिक्षा का अधिकार देता है। इसमें कहा गया है कि प्रत्येक बच्चे को अनिवार्य शिक्षा 6 से 14 वर्ष की उम्र में मिलनी चाहिए। इसलिए सही उत्तर विकल्प B है।
Question
Who was the first woman to be appointed as the governor of any state in India?
भारत में किसी भी राज्य के राज्यपाल पद पर नियुक्त सर्वप्रथम महिला कौन थी?
A.
B.
C.
D.
Answer
C.Sarojini Naidu was the first governor of Uttar Pradesh and any state in the country. She was the governor from 15 August 1947 to 2 March 1949. Sarojini Naidu was popularly known as 'Bharat Nightingale', and was a freedom fighter. Sarojini Naidu was born on 13 February 1879 in Hyderabad, Andhra Pradesh. She died in Allahabad on 2 March 1949 while on the post of Governor. Sucheta Kriplani became the first woman chief minister of Uttar Pradesh and any state in the country. She served as Chief Minister from 2 October 1963 to 13 March 1967. So the correct answer is option C.
C.सरोजिनी नायडू उत्तर प्रदेश और देश के किसी भी राज्य की पहली राज्यपाल थीं। वह 15 अगस्त 1947 से 2 मार्च 1949 तक राज्यपाल रहीं। सरोजिनी नायडू 'भारत नाइटिंगेल' के नाम से लोकप्रिय थीं, और एक स्वतंत्रता सेनानी थीं। सरोजिनी नायडू का जन्म 13 फरवरी 1879 को हैदराबाद, आंध्र प्रदेश में हुआ था। राज्यपाल के पद पर रहते हुए 2 मार्च 1949 को इलाहाबाद में उनका निधन हो गया। सुचेता कृपलानी उत्तर प्रदेश और देश के किसी भी राज्य की पहली महिला मुख्यमंत्री बनीं। उन्होंने 2 अक्टूबर 1963 से 13 मार्च 1967 तक मुख्यमंत्री के रूप में कार्य किया। इसलिए सही उत्तर विकल्प C है l
Question
Who is the chairman of National Disaster Management Authority?
राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण का अध्यक्ष कौन होता है?
A.
B.
C.
D.
Answer
C.The National Disaster Management Authority (RAPRA) is an agency of the Ministry of Home Affairs, Government of India, whose job is to coordinate the actions to be taken on the occurrence of natural disasters or man-made disasters and to build capacity to fight them. It was formed on September 27, 2006, under the Disaster Management Act, 2005. Rapra is headed by the Prime Minister and has a maximum of 9 members. The members are nominated by the chairman. One of them is designated as the Vice-President. The rank of Vice-Chairman is equivalent to that of a cabinet minister, while the status of other members is equivalent to that of a minister of state. So the correct answer is option C.
C.राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (RAPRA) भारत सरकार के गृह मंत्रालय की एक एजेंसी है, जिसका काम प्राकृतिक आपदाओं या मानव निर्मित आपदाओं की घटना पर की जाने वाली क्रियाओं का समन्वय करना और उनसे लड़ने की क्षमता का निर्माण करना है। इसका गठन 27 सितंबर, 2006 को आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 के तहत किया गया था। रापरा का नेतृत्व प्रधान मंत्री करते हैं और अधिकतम 9 सदस्य होते हैं। सदस्यों को अध्यक्ष द्वारा मनोनीत किया जाता है। उनमें से एक को उपाध्यक्ष के रूप में नामित किया जाता है। उपाध्यक्ष का पद कैबिनेट मंत्री के बराबर होता है, जबकि अन्य सदस्यों की स्थिति राज्य मंत्री के बराबर होती है। इसलिए सही उत्तर विकल्प C है।
Question
How many types of justice, liberty, equality and fraternity in that order has been mentioned in the preamble of constitution of India?
भारत के संविधान की प्रस्तावना में कितने प्रकार के न्याय, स्वतंत्रता, समानता और बंधुत्व का उल्लेख किया गया है।
A.
B.
C.
D.
Answer
A.The types of justice, liberty, equality and fraternity in that order has been mentioned in the preamble of constitution of India are-3,5,2, 1 Justice- social, economic and political; Liberty- thought, expression, belief, faith and worship; Equality - status and of opportunity; So the correct answer is option A.
A.जिस क्रम में न्याय, स्वतंत्रता, समानता और बंधुत्व के प्रकार भारत के संविधान की प्रस्तावना में उल्लिखित हैं, -3,5,2, 1 न्याय- सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक; स्वतंत्रता- विचार, अभिव्यक्ति, विश्वास, विश्वास और पूजा; समानता - स्थिति और अवसर की; इसलिए सही उत्तर विकल्प A है।