Question
How many types of justice, liberty, equality and fraternity in that order has been mentioned in the preamble of constitution of India?
भारत के संविधान की प्रस्तावना में कितने प्रकार के न्याय, स्वतंत्रता, समानता और बंधुत्व का उल्लेख किया गया है।
A.
B.
C.
D.
Answer A.
Answer explanationShare via Whatsapp
A.The types of justice, liberty, equality and fraternity in that order has been mentioned in the preamble of constitution of India are-3,5,2, 1 Justice- social, economic and political; Liberty- thought, expression, belief, faith and worship; Equality - status and of opportunity; So the correct answer is option A.
A.जिस क्रम में न्याय, स्वतंत्रता, समानता और बंधुत्व के प्रकार भारत के संविधान की प्रस्तावना में उल्लिखित हैं, -3,5,2, 1 न्याय- सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक; स्वतंत्रता- विचार, अभिव्यक्ति, विश्वास, विश्वास और पूजा; समानता - स्थिति और अवसर की; इसलिए सही उत्तर विकल्प A है।
Comments

View Similar questions (संबन्धित प्रश्न देखें)

Question
Who was the Chief Justice of India when Public Interest litigation was introduced in the Indian Judicial system?
जब भारतीय न्यायिक प्रणाली में जनहित याचिका प्रारंभ की गई थी तो उस समय भारत के मुख्य न्यायाधीश कौन थे?
A.
B.
C.
D.
Answer C.
Question
The Constitution of India does not explicitly provide for 'freedom of the press, but this freedom is implicit -
भारत का संविधान स्पष्टतः 'प्रेस की आजादी' की व्यवस्था नहीं करता, किन्तु यह आजादी अन्तर्निहित है -
A.
B.
C.
D.
Answer C.
Question
Article 17 of the Constitution of India provides -
भारतीय संविधान के अनुच्छेद 17 में उपबन्ध किया गया है -
A.
B.
C.
D.
Answer D.
Question
In whose consultation does the President convene and prorogue all sessions of Parliament?
राष्ट्रपति संसद के सभी सत्रों को किसके परामर्श पर बुलाता और आयोजित करता है?
A.
B.
C.
D.
Answer B.